Corona Positive Case Maruti Nagar And Maulana Azad Marg, Kailash Marg – कोरोना पॉजिटिव केस मारुति नगर और मौलाना आजाद मार्ग के, कैलाश मार्ग कंटेनमेंट एरिया क्यों?

2500 की जनसंख्या है, सभी वार्डवासियों को जीवन यापन करने की वस्तुओं की अनुपलब्धता के कारण अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है

झाबुआ. शहर के वार्ड 2 कैलाश मार्ग एवं उससे जुड़ी कुछ अन्य गलियों के रहवासियों ने उनके क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया से मुक्त कराने की मांग की है। वार्ड के समस्त रहवासियों के हस्ताक्षरयुक्त आवेदन वार्ड पार्षद नूरजहां अब्दुल शेख ने कलेक्टर प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक विनीत जैन, एसडीएम डॉ. अभयसिंह खराड़ी एवं नपा सीएमओ एलएस डोडिया को देकर यह मांग रखी है।

वार्ड 2 के सैकड़ों रहवासियों के हस्ताक्षरयुक्त दिए आवेदन में वार्ड पार्षद नूरजहां अब्दुल इनायत शेख ने बताया कि शहर के वार्ड 2 कैलाश मार्गं और उससे जुड़ी कुछ छोटी गलियां भी शामिल हैं। इनके तहत एक भी कोरोना पॉजीटिव मरीज या व्यक्ति नहीं है। जो भी संक्रमित व्यक्ति है, वह वार्ड 3 मोलाना आजाद मार्ग और मारूतिनगर क्षेत्र के है। जिसे जिला प्रशासन ने सील कर दिया है। उस क्षेत्र के ही मरीज है। आवेदन में आगे बताया गया कि वार्ड 2 में लगभग 2000 से 2500 की जनसंख्या है। सभी वार्डवासियों को जीवन यापन करने की वस्तुओं की अनुपलब्धता के कारण अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आवेदन में वार्ड 2 कैलाश मार्ग को कंटेनमेंट एरिया से मुक्त कराने की मांग की गई।

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से घोषित हुआ कंटनमेंट एरिया
इस संबंध में वार्ड के कुछ रहवासियों ने बताया कि मौलाना आजाद मार्ग में कियोस्क सेंटर पर कार्य करने वाली युवती एवं उसके संपर्क मे आई उसकी भांजी और भतीजी, जो कि मौलाना आजाद मार्ग के निवासी है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने उनके पते में कैलाश मार्ग लिखने पर यह खबर वायरल होने पर जिला प्रशासन ने कैलाश मार्ग को कंटनमेंट एरिया घोषित कर दिया। जबकि कैलाश मार्ग में मनकामेश्वर महादेव मंदिर से लेकर हुड़ा चौक और आगे हुड़ा स्कूल तथा वार्ड में आने वाली अन्य छोटी गलियों में भी एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं है। ऐसे में वार्ड 2 को कंटेनमेंट एरिया में लिया जाना वार्ड के रहवासियों के साथ खिलवाड़ है। रहवासियों के अनुसार जब गोपाल कॉलोनी में दो कोरोना संक्रमित मरीज आने पर एक गली को ही सील किया है। ऐसे में बेवजह कैलाश मार्ग को सील कर रहवासियों को परेशान करना जिला प्रशासन के तानाशाही एवं मनमाने रवैये को प्रदर्शित करता है।

आवश्यक वस्तुओं की सप्लाय नहीं हो रही
रहवासियों ने यहां तक बताया कि हुड़ा क्षेत्र को कंटनेमेंट एरिया घोषित करने से वार्ड 2 कैलाश मार्ग एवं उससे जुड़ी अन्य गलियों में भी आवश्यक सामग्री की सप्लाय नियमित नहीं हो पा रही है। कई रहवासियों ने तो यहां तक आरोप लगाया कि वार्ड के अंदर पानी सप्लाय भी नहीं करने दिया जा रहा। जबकि शासन के नियमानुसार कोरोना संक्रमित मार्ग को कंटनमेंट एरिया एवं आसपास के क्षेत्र को बफर जोन घोषित किया जाना है, लेकिन जिला एवं पुलिस प्रशासन ने पूरे हुड़ा क्षेत्र में सख्ती बरतकर अपनी तानाशाही एवं मनमाने रवैये का परिचय दिया है।
& फि लहाल प्रशासन को शहर के प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा का विषेष ध्यान रखना है, ना कि सुविधा का। हमें मेक्जीम कंट्रोल मीनियम लॉस’’ की तर्ज पर चलना है ना कि ‘मेक्सीस लॉस मीनियम कंट्रोल’ की तर्ज पर। मारुति नगर और कैलाश मार्ग से भी सटे जो एरिया हैं। उनकी एक किमी की परिधि को भी सील किया जाना जरूरी होता है। इसी के तहत पूरे क्षेत्र को बंद किया है। आज यदि कोई संक्रमित व्यक्ति बाजार में निकलता है, तो उससे शहर के प्रत्येक व्यक्ति को उससे नुकसान पहुंचने की संभावना रहती है। हम फिलहाल अपनी सुविधा पर अधिक ध्यान ना दें। अपनी सुरक्षा पर अधिक ध्यान दें।
– डॉ. अभयसिंह खराड़ी, एसडीएम, झाबुआ।

&वार्ड 2 के रहवासियों की वार्ड में जरूरी दूध और खाद्य सामग्री की सप्लाय समय पर नहीं हो पाने संबंधी समस्या थी, जिसे एसडीएम एवं नगरपालिका सीएमओ से चर्चा कर समाधान किया जा चुका है।
– विनीत जैन, पुलिस अधीक्षक झाबुआ।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *