बुजुर्ग दंपति ने कोरोना को हराया, अस्पताल से छुट्टी के बाद फिर की ‘शादी’

Edited By Muneshwar Kumar | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

NBT
हाइलाइट्स

  • एमपी के दमोह जिला अस्पताल से आई है सुखद तस्वीर
  • कोरोना को हराने के बाद बुजुर्ग दंपति की अस्पताल से छुट्टी
  • दंपति ने एक-दूसरे को माला पहनाकर नई जिंदगी की शुरुआत का अहसास किया
  • गुरुग्राम से लौटने के बाद दोनों की रिपोर्ट आई थी कोरोना पॉजिटिव

दमोह

एमपी में कोरोनो मरीजों की संख्या 8800 पार पहुंच गई है। इस बीच सुखद खबर भी लगातार आ रही है। कोरोना के मरीज ठीक होकर अपने घर लौट रहे हैं। एमपी में आधे से ज्यादा मरीज ठीक हो गए हैं। कोरोना मरीजों की छुट्टी जब अस्पताल से होती है, तो वह जंग जीतने जैसे ही होता है। एमपी के दमोह जिले में एक बुजुर्ग दंपति ने कोरोना वायरस को मात देने के बाद अभिभूत हो गए। अस्पताल से बाहर निकलते ही दोनों ने एक-दूसरे को गले लगाया, जैसे 4 दशक पहले शादी के दौरान किया था। 62 वर्षीय महिला ने कहा कि यह हमारी दूसरी जिंदगी है।

दरअसल, दंपति पिछले महीने ही गुरुग्राम से दमोह के रसीलपुर गांव 20 लोगों के समूह में पहुंचा था। उसके बाद सभी को क्वारंटीन किया गया था। 19 मई को इन सभी का कोरोना टेस्ट हुआ था। इनमें से 13 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, जिसमें महिला के 64 साल के पति भी शामिल हैं। उसके बाद सभी को दमोह जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

मुश्किल में ‘महाराज’ के ‘मुन्ना’, मतदाताओं का ऐलान- ‘विकास नहीं तो वोट क्यों’?

दमोह जिला अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ दिवाकर पटेल ने कहा कि परिवार के 10 लोगों की छुट्टी अस्पताल से पहले ही हो गई थी। बुजुर्ग दंपति को ठीक होने में समय लगा था। 2 जून को बुजुर्ग दंपति की अस्पताल से छुट्टी हुई है।

शराब ठेकेदारों को HC का निर्देश, सरकार की नीति मंजूर नहीं तो दुकान सरेंडर करो

अस्पताल से छुट्टी के दौरान अस्पताल के कर्मियों ने उन्हें सम्मान के साथ विदाई दी। फूलों के माला के साथ स्वागत किया। इस दौरान बुजुर्ग दंपति खुशी से भावुक हो गए। अस्पताल के कर्मियों ने जो फूलों का माला दिया, उसे दंपति ने एक-दूसरे के गले में डाली।

गौरतलब है कि दमोह जिले में कोरोना वायरस के कुल 26 केस हैं, जिनमें से 16 लोग ठीक होकर घर लौट गए हैं। वहीं, 10 मरीजों का इलाज अभी अस्पताल में चल रहा है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *