Collector discussed with students

कलेक्टर द्वारा पेटलावद में स्थित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का अवलोकन किया गया

पेटलावद.
कलेक्टर रोहित सिंह द्वारा पेटलावद में स्थित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का अवलोकन किया गया। सिंह ने कक्षा 10 वीं तथा कक्षा 12 वीं की कक्षाओं में जाकर छात्राओं से रूबरू चर्चा की और उनके कोर्स तथा परीक्षा के टाइम-टेबल की जानकारी ली। सिंह ने शिक्षिकों को निर्देश दिए हैं कि वे अतिरिक्त कक्षाएं लेकर कोर्स पूर्ण कराने और परीक्षा परीणाम में सुधार लाएं।
सिंह ने प्राचार्य तथा शिक्षक से परीक्षा टाइम टेबल की जानकारी प्राप्त की और संतोषजनक उत्तर नहीं मिलने पर प्राचार्य को नोटिस देने तथा शिक्षिका की वेतन वृद्धि रोकने के लिए नोटिस जारी करने के निर्देश सहायक आयुक्त जनजाति कार्य विभाग को दिए। सिंह ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व छात्राओं को पढ़ाने के लिए प्रेरित किया। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व शिशिर गेमावत ने छात्राओं को पढ़ाने के लिए आस्वासन दिया। कलेक्टर ने परीक्षा टाइम टेबल सूचना पटल तथा प्रत्येक कक्ष में चस्पा करने के निर्देश दिए। साथ ही शिक्षिका को शिक्षा की गुणवत्ता में और अधिक सुधार लाने के निर्देश दिए।
शासकीय उचित मूल्य दुकान बरवेट का निरीक्षण: बरवेट में स्थित आदिम जाति सेवा संस्था द्वारा संचालित शासकीय उचित मूल्य दुकान का निरीक्षण किया। उचित मूल्य दुकानदार को निर्देश दिए हैं कि वे प्रतिमाह उपभोक्ताओं को माह की 15 तारीख तक खाद्यान्न शत प्रतिशत वितरण सुनिश्चित करें। ग्राम बावडी में स्थित आंगनवाड़ी केन्द्र का अवलोकन किया और ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। सिंह ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को ग्राम पंचायत, सचिव तथा रोजगार सहायक की शिकायतों की तत्काल जांच करने के निर्देश दिए। सिंह ने जनपद पंचायत कार्यालय में साफ -सफाई व्यवस्था तथा कार्यालय भवन की रंगाई-पुताई नहीं होने पर नाराजगी जाहिर की। सिंह ने जनपद पंचायत के नए भवन का प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
बिना किसी दबाव के गुणवत्तापूर्ण गणवेश की सिलाई करें
सिं ह ने महिला स्व सहायता समूह के सदस्यों से विद्यालय के छात्र-छात्राओं की गणवेश सिलाई कार्य के संबंध में जानकारी प्राप्त की और निर्देश दिए हैं कि वे बिना किसी दबाव के गुणवत्तापूर्ण गणवेश सिलाई करें। सिंह ने निर्देश दिए हैं कि जनपद स्तर पर तथा जिला स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करें। इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों में महिला स्व सहायता समूह के सदस्यों की समस्याओं का निराकरण हो सके। जिला स्तर के प्रशिक्षण कार्यक्रम में कलेक्टर स्वयं उपस्थित रहेंगे और जनपद स्तर पर संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व उपस्थित रहेंगे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *