Will fight together for self-respect and designation of teachers

प्रांतीय समग्र शिक्षक संघ की बैठक संपन्न

आलीराजपुर. प्रांतीय समग्र शिक्षक संघ की बैठक रविवार को आयोजित की गई। बैठक में जिले के समस्त ब्लॉकों के 42 शिक्षक उपस्थित हुए। अध्यक्षता जिला अध्यक्ष केशरसिंह बामनिया ने की। इस अवसर पर उपस्थित समस्त सदस्यों को समग्र शिक्षक संघ की विचारधारा से अवगत कराते हुए बामनिया द्वारा बताया गया कि समग्र शिक्षक संघ के प्रांतीय संगठन की मुख्य मांग पदनाम है। बामनिया ने सभी से आह्वान करते हुए कहा कि स्वाभिमान की इस लड़ाई में मेरा तन, मन, धन सब कुछ लगा दूंगा, बस मुझे आपके सहयोग की जरूरत है। शिक्षा जगत में भविष्य में आने वाले चुनौतियों से सभी को अवगत करवाया गया। बामनिया द्वारा बताया गया कि ये लड़ाई सिर्फ नियमित शिक्षकों की ही नहीं परन्तु हमारे अध्यापक साथियों की भी है, क्योंकि वे भी अब नियमित शिक्षक ही हैं, इन मांगों की पूर्णता से उनका भी मार्ग प्रशस्त होगा वरना आने वाले समय मे विकट परिस्थितयां निश्चित हैं, इसलिए अपने भविष्य की चिन्ता करते हुए उन्हें भी इस लडाई में साथ देना होगा।

कार्यकारिणी का किया गठन
बैठक में अविनाश वाघेला ने अपने विचार रखते हुए बताया कि समग्र शिक्षक संगठन ही मात्र ऐसा संगठन है, जहां किसी का भी निजी स्वार्थ नहीं है, नहीं तो वर्तमान में अधिकतर संगठनों के लोग अपने निजी स्वार्थ के निहित भीड़ इकठ्ठा कर प्रशासन पर अपना दबदबा बनाकर अपने निजी कार्यों की पूर्ति कर लेते हैं। बैठक में शिक्षकों की विभिन्न स्थानीय समस्याओं का भी समाधन संगठन के माध्यम से किया जाने का निर्णय लिया गया। इस दौरान सर्वानुमति से पदाधिकारियों का चयन कर विभिन्न पदों पर कार्यकारीणी का गठन किया गया। इसमें उपाध्यक्ष थानसिंह भयडिया, महामंत्री मुकाम सिह कनेश, छगनसिह डावर, छितुसिंह बामनिया, सचिव सुदेश वाघेला, संयुक्त सचिव लाकेन्द्र सिंह सोलंकी, कोषाध्यक्ष अखिलेश पंवार, सह कोषाध्यक्ष कन्हैलाल बिलवाल, प्रवक्ता मनीष वाघेला को बनाया गया। वहीं मेहमुद खान पठान, भुरसिंह गाडरिया, सेना चौहान, आरती चौहान, केशरसिंह चौहान, वीरसिंह गोयल को कार्यकारिणी सदस्य बनाया गया। संचालन सुदेश वाघेला ने किया। आभार महामंत्री मुकाम सिंह कनेश ने माना।






Show More







Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *