Crops dry due to non-release of water in canal, angry farmers warn

कई दिन से नहर में पानी छोडऩे कर रहे थे मांग, सुनवाई नहीं हुई तो दिया धरना

झाबुआ. माही जल संथा सारंगी और ग्राम बोडायता के किसानों ने माही विभाग के दोनों सबडिवीजन के एसडीओ आर जामोद और ए कुरैशी को मौके पर बुला कर सूख रही खड़ी फसल को दिखाया और नहर को चालू करवाने की मांग को लेकर खूब खरीखोटी सुनाई।

किसानों ने कहा कि सारंगी क्षेत्र में माही नहर का पानी 15 दिन बाद चलाया गया और अब नहर को बंद कर दिया है। जिससे फसल सूख रही है। किसान लगभग आठ दिनों से एसडीओ कुरैशी से फोन पर बात कर नहर चालू करवाने का अनुरोध कर रहे थे, लेकिन माही के एसडीओ और इंजीनियर किसानों को केवल आश्वासन दे रहे थे। जब किसानों से सूखती फसल नहीं देखी गई तो, समीपस्थ मोहनपुरा फाटे पर एकत्र होकर एसडीओ को मौके पर बुलाने की जिद पर अड़ गए।

धरना देकर तत्काल नहर खोलने की मांग पर अड़े
माही संथा के अध्यक्ष अग्निनारायण सिंह ने अधिकारियों की हठधर्मिता और किसानों के साथ हो रहे भेदभाव पर एसडीओ को खरी-खोटी सुनाई । एसडीओ जामोद और कुरैशी ने अपनी गलती स्वीकार की और लोगों को दो दिन में नहर खोलने का आश्वासन दिया। कुछ किसान मौके पर ही धरना देकर तत्काल नहर खोलने की मांग करने पर अड़े गए, लेकिन माही संथा के अध्यक्ष ने किसानों को समझाकर दो दिन और देखने की बात कही।

चक्काजाम करने की चेतावनी
किसानों ने कहा अगर अधिकारी के आश्वासन पर नहर चालू नहीं होती है तो दो दिनों बाद सारंगी और बोडायता क्षेत्र के किसानों द्वारा मुख्य हाइवे पर चक्काजाम किया जाएगा, जिसकी सभी जवाबदेही प्रशासन की रहेगी। मौके पर माही संस्था के अध्यक्ष अग्निनारायण सिंह , जनपद सदस्य योगेंद्र सिंह, माही संथा के सभी मेंबर और क्षेत्र के किसान उपस्थित थे।






Show More

















Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *